महाभारत में कितने कृष्ण थे | Mahabharat Me Kitne Krishna The

महाभारत में कितने कृष्ण थे : जब हम छोटे थे, तब सभी ने स्कूल में या घर में महाभारत की महाभारत की कहानी पढ़ी और टीवी पर देखा है। लेकिन महाभारत में कई रहस्य छुपे हुए हैं जिसके बारे में हमको नहीं पता है। इस लेख में हम जानेंगे की महाभारत में कितने कृष्ण थे ?

भगवान कृष्ण विष्णु के अष्ठम अवतार थे साथ ही भगवान कृष्ण महाभारत युद्ध के सबसे बड़े सूत्रधार थे। लेकिन ये जानकर आपके होश उड़ सकते है की महाभारत के समय में एक कृष्ण नहीं बल्कि तीन कृष्ण थे लेकिन तीनो की पहचान अलग थी।

महाभारत में कितने कृष्ण थे

1. पहले कृष्ण थे विष्णु जी के अष्ठम अवतार लेने वाले बासुदेव और माता देवकी की पुत्र ।

2. दूसरे कृष्ण थे महार्षि वेदव्यास जिन्होंने महाभारत की रचना की थी। महार्षि वेदव्यास जी का पूरा नाम श्रीकृष्ण द्वैपायन था। महार्षि वेदव्यास जी का रंग सांवला था और उनका जन्म एक द्वीप पर हुआ था, इसीलिए उनका नाम श्रीकृष्ण द्वैपायन पड़ गया।

महाभारत में कितने कृष्ण थे

यह भी पढ़ें : भगवान श्री कृष्ण के कितने पुत्र थे

3. तीसरे कृष्ण थे पुंड्र देश के राजा पौंड्रक। इस तीसरे कृष्ण को नकली कृष्णा कहा जाता है। पौंड्रक के पिता का नाम वासुदेव था इसलिए वो खुद को वासुदेव कहता था और खुदको भगवान कृष्ण मानता था।

पौंड्रक के मूर्ख और चापलूस दोस्त ने भी उसे ये बताया कि असल में पौंड्रक ही भगवान विष्णु का अवतार और असली कृष्ण है। फिर पौंड्रक ने खुदको भगवान कृष्ण की तरह ही अपना रंग और रूप बना लिया था।

भगवान कृष्ण जो भी चीज को धारण करता है वैसे ही पौंड्रक ने शंख, मोर मुकुट, नकली चक्र, पीला वस्त्र सबकुछ धारण कर लिया। फिर पौंड्रक अहंकारी बन गया और भगवान श्री कृष्ण को चुनौती दे दिया। उसके बाद भगवान श्री कृष्ण को नकली कृष्ण का वध करना पड़ा।

यह भी पढ़ें

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here