मनुष्य की आयु कितनी होती है | Manushya Ki Aayu Kitni Hoti Hai

मनुष्य की आयु कितनी होती है ये एक ऐसा सवाल है जिसका उत्तोर जानने के लिए लोग सदीओ से कोसिस कर रहे है। हमें से ज्यादा तोर लोग 80 बर्ष जीने की उम्मीद रखते है। लेकिन कुछ लोग उम्मीद से आगे जाकर 100 बर्ष से भी अधिक जीते है। दोस्तों क्या आप जानते हैं इंसान की उम्र क्या होती है? यदि आप नहीं जानते हैं, तो हमारा इस लेख को पूरी तरह से पढ़े। दुनिया भर में औसत उम्र में बढ़ोतरी हो रही है। साल 2016 में जन्मे लोग औसतन 25 साल पहले पैदा हुए लोगों लगवग सात वर्ष अधिक जिएंगे।

मनुष्य की आयु कितनी होती है
मनुष्य की आयु कितनी होती है

मनुष्य की आयु कितनी होती है इसके बढ़े में कुछ जानकारी

दोस्तों नेचर कम्यूनिकेशन में प्रकाशित हुई एक रिपोर्ट के मुताबिक कहा गया है की इंसान की अधिकतम आयु 150 उम्र है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सिंगापुर के वैज्ञानिकों ने मनुष्य की अधिकतम उम्र को पता लगाने के लिए स्पेशल इंडिकेटर्स को बनाया गया था। ओकिनावा, जापान और सार्डिनिया, इटली जैसे स्थानों में, ऐसे बहुत लोग हैं जो अपनी उम्र का सैकड़ा पार कर चुके हैं। इतिहास के सबसे उम्रदराज व्यक्ति के तौर पर फ्रांस की महिला जीन कैलमेंट का नाम लिया जाता है, जो 122 वर्ष की थी। वह महिला 1875 में पैदा हुई थीं और उस समय औसत जीवन प्रत्याशा लगभग 43 वर्ष थी।

मनुष्य की आयु कितनी होती है?

जबकि औसत जीवन प्रत्याशा की गणना करना अपेक्षाकृत आसान है, अधिकतम जीवन प्रत्याशा का अनुमान लगाना बहुत कठिन है। पिछले अध्ययनों ने इस सीमा को 140 वर्ष की आयु के करीब रखा है। लेकिन हाल के एक अध्ययन में कहा गया है कि मानव जीवन काल की सीमा 150 वर्ष के करीब है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सिंगापुर के वैज्ञानिकों ने इंसानों की अधिकतम उम्र का पता लगाने के लिए खास संकेतक बनाए थे. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक डायनेमिक ऑर्गेनिज्म स्टेट इंडिकेटर कहे जाने वाले इन इंडिकेटर्स के जरिए किसी व्यक्ति की अधिकतम उम्र का पता लगाया जा सकता है।

जीवन प्रत्याशा और जीवनकाल की गणना के लिए सबसे पुराना और अभी भी इस्तेमाल किया जाने वाला तरीका गोम्पर्ट्ज़ समीकरण है। इस संबंध में पहला आकलन 19वीं शताब्दी में किया गया था कि समय के साथ मानव मृत्यु दर में तेजी से वृद्धि हुई है। निश्चित रूप से, इसका मतलब है कि कैंसर, हृदय रोग और अन्य संक्रमणों से आपके मरने की संभावना हर आठ से नौ साल में लगभग दोगुनी हो जाती है।

गोम्पर्ट्ज़ गणना का उपयोग स्वास्थ्य बीमा प्रीमियम की गणना के लिए भी किया जाता है – यही कारण है कि ये कंपनियां यह जानने के लिए उत्सुक हैं कि क्या आप धूम्रपान करते हैं, क्या आप विवाहित हैं, या कुछ इसी तरह का अनुमान लगाने के लिए। जानिए आप और कितने दिन जिएंगे।

हम कितने समय तक जीवित रहेंगे, यह पता लगाने का एक ही तरीका है कि उम्र के साथ-साथ हमारे अंगों की कार्यक्षमता कैसे और कितनी घटती है। हम आपकी उम्र के साथ अंगों की घटती कार्यक्षमता का मिलान करते हैं।

उदाहरण के लिए, आंख का कार्य और व्यायाम करते समय हम कितनी ऑक्सीजन का उपयोग करते हैं, यह उम्र के साथ कम होने की सामान्य प्रवृत्ति को दर्शाता है, अधिकांश गणनाओं से संकेत मिलता है कि औसत व्यक्ति के अंग लगभग 120 वर्ष की आयु तक कार्य करेंगे।

क्या मनुष्य अधिकतम 150 साल तक जिंदा रह सकता है?

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक अधिकतम उम्र बाले लोगो का पता लगाने के लिए एक स्पेशल तरीका अपनाया जाता है। इसके तहत खून की जांच की जाती है। वैज्ञानिकों ने इंडिकेटर्स के साथ खून के जांच से मिले नमूनों को मिलाकर देखा है।

शोध में इस बात की जानकारी पता चली है कि अगर मनुष्य का स्वास्थ्य ठीक रहे और शरीर के अनुकूल परिस्थितियां बनी रहे तो इंसान अधिकतम 150 साल तक जिंदा रह सकता है।

तो अब आप जान गए होंगे की मनुष्य की आयु कितनी होती है। अगर आपको हमारे इस लेख को पसंद आया तो आप हमारे इस लेख को अपने फ्रेंड्स या रिस्तेदारो के साथ शेयर करे।

यह भी पढ़ें :   

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here