मछली पालन के लिए लोन कहां से मिलेगा | Machli Palan Loan Kaise Milega

मछली पालन के लिए लोन कहां से मिलेगा  : मछली पालन निश्चित रूप से भारत में एक बहुत ही आकर्षक व्यवसाय है। मीठे पानी में मछली पालन के लिए विभिन्न राज्य सरकारें बुनियादी ढांचे और चलाने के खर्च के विभिन्न पहलुओं पर सब्सिडी दे रही हैं। मछली के बीज और चारा बाजारों में आसानी से मिल जाते है।

हम जानते है की आपको मछली पालन के लिए लोन की सख्त जरुरत है, लेकिन आपको नहीं पता है की मछली पालन के लिए लोन कैसे लेते हैं, मत्स्य पालन लोन ऑनलाइन अप्लाई कैसे करे और मछली पालन के लिए लोन कितना मिल सकता है। तो आपको बता दें कि हमने इस पोस्ट में “मछली पालन के लिए लोन कैसे प्राप्त करें” के बारे में सब कुछ बताया है, जिसे पढ़कर आपको मछली पालन लोन की सही जानकारी मिल जाएँगी।

केंद्र तथा राज्य सरकार किसानों को मछली पालन व्यवसाय के लिए निरंतर प्रोत्साहित कर रही है। इसके इलाबा मछली पालन के लिए केंद्र तथा राज्य सरकार बजट में अलग से व्यवस्था की जाती है। क्या आपको लोन चाहिए बैंक से पर्सनल लोन लेने के लिए यह पड़े।

मछली पालन के लिए लोन कहां से मिलेगा
मछली पालन के लिए लोन कहां से मिलेगा

मछली पालन व्यवसाय आप बहुत कम पूंजी के साथ आसानी से कर सकते है। इसलिए यह एक कम जोखिम वाला व्यवसाय है।  

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने प्रधान मंत्री मत्स्य संपदा योजना (PMMSY) के तहत 20,000 करोड़ रुपये की योजना की सूचना दी। इसमें से 11,000 करोड़ रुपये समुद्री अंतर्देशीय मत्स्य पालन और जलीय कृषि में अभ्यास पर खर्च किए जाएंगे। हर हाल में एंगलिंग हार्बर और कोल्ड चेन जैसे फाउंडेशन को असेंबल करने में 9000 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे। कहा जा रहा है की इस योजना को सबसे पहले उत्तर प्रदेश में शुरू किया गया है। इस योजना के तहत मछली पालकों को बैंक लोन के साथ-साथ नि:शुल्क प्रशिक्षण भी दिया जाएगा।

मछली पालन के लिए लोन कहां से मिलेगा | Machli Palan Loan Kaise Milega

अगर आप मछली पालन व्यवसाय करना चाहते है, लेकिन आपके पास पैसा नहीं है तो चिंता करने के जरुरत नहीं है। क्यों की इस व्यवसाय को आप मत्स्य संपदा योजना (PMMSY) के तहत लोन ले कर भी कर सकते है। मछली पालन के लिए सरकार द्वारा सब्सिडी दी जा रही है।

चाहे तो आप अपनी जमीन को तालाब में परिवर्तित कर मछली पालन व्यवसाय शुरू कर सकते है। इससे आप सरकार द्वारा सब्सिडी भी मिल जाएँगी।

मत्स्य विशेषज्ञों के मुताबिक करीब 1 हेक्टेयर तालाब के निर्माण में करीब 5 लाख रुपये खर्च होता हैं। जिसमें से कुल राशि का 50 प्रतिशत केंद्र सरकार, 25 प्रतिशत राज्य सरकार और शेष 25 प्रतिशत मछली पालन कर्ता को देना होता है। प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना के अंतर्गत आपको मछली पालन के लिए लोन मिल सकता है।

यदि आपके पास पहले से ही तालाब है और मत्स्य पालन के लिए तालाब में काफी सुधार करना है। इसके लिए भी केंद्र और राज्य सरकार अनुदान देती है। जिसमें से 25 फीसदी मछली पालक को देना होता है।

मत्स्य पालन ऋण लेने के लिए सबसे पहले आपको अपने राज्य में मछली पालन से संबंधित योजनाओं की जानकारी प्राप्त करनी होगी। उत्तर प्रदेश में प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना के अंतर्गत लोन के लिए आवेदन कर सकते है, लेकिन इस लोन को लेने के लिए आपको उत्तर प्रदेश के निवासी होना होगा।

यह भी पढ़ें : 50000 का लोन कैसे मिलता है 

मछली पालन हेतु लोन कौन ले सकता है

मछुआरे सहकारी समितियां, मत्स्य पालक, मत्स्य उद्यमी, पैक्स (PACS), पैक्स के सदस्य, अंतर्देशीय जल निकायों के मालिक या लीज पर लिया हैं, आदि प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना के अंतर्गत लोन के लिए पात्र है।

मछली पालन लोन लेने हेतु पात्रता

आवेदक अनुभवी/पेशेवर मछुआरा/प्रशिक्षित उद्यमी होना चाहिए। आवेदक को भूमि/पानी की टंकियों/दलदलों के खारे पानी के क्षेत्रों का स्वामित्व/पट्टे पर लेना चाहिए। आवेदक को मत्स्य विभाग से तकनीकी मार्गदर्शन होना चाहिए।

मछली पालन लोन के लिए आवश्यक दस्तावेज

इसके लिए आपको निम्नलिखित दस्तावेजों की आवश्यकता होगी:

  • आवेदक का आधार कार्ड।
  • आवेदक का निवास प्रमाण पत्र।
  • आधार कार्ड से लिंक मोबाइल नंबर।
  • बैंक खाता विवरण के लिए बैंक पासबुक की प्रति।
  • आवेदक का जाति प्रमाण पत्र।
  • आवेदक का मत्स्य पालन कार्ड
  • दो पासपोर्ट साइज की फोटो
  • प्रशिक्षण प्रमाण पत्र

यदि जमीन या तालाब पट्टे पर लिया है, तो

  • शपथ पत्र
  • इकरारनामा |
  • तालाब की नकल जमाबंदी एंव हक सिजरा |
  • पट्टा धनराशी की रसीद (फार्म 4 पर) |
  • इकरारनामा मछली पालक और ग्राम पंचायत के बीच में |
  • नकल प्रस्ताव ग्राम पंचायत तालाब पट्टे पर देने के बारे में |

मछली पालन लोन हेतु आवेदन प्रक्रिया

उत्तर प्रदेश के निवासी होने पर आप डायरेक्ट प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना लोन अप्लाई कर सकते है।

अगर आप हरियाणा के निवासी हैं तो आपको अंत्योदय सरल पोर्टल (Antyodaya Saral Portal) पर आवेदन करना होगा। हरियाणा में मत्स्य पालन अधिकारी एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी ने मीडिया को सूचित किया कि इस योजना के तहत वर्ष 2021-22 के मत्स्य अनुदान के लिए आवेदन स्वीकार किए जा रहे हैं। किसान 15 फरवरी तक आवेदन कर सकते हैं।

अगर आप हिसार में रहते हैं तो वहीं, ब्लू बर्ड हिसार के पास स्थित मत्स्य विभाग में जाकर आप वहां योजना से जुड़ी सभी जानकारी प्राप्त करने के बाद मछली पालन लोन लेने के लिए आवेदन कर सकते हैं।

इसी तरह अन्य राज्यों के मत्स्य किसान अपने क्षेत्र के मत्स्य विभाग से जानकारी “मछली पालन के लिए लोन कैसे लेते हैं” लेकर मछली पालन लोन आवेदन प्रक्रिया को पूरी कर के लोन ले सकते है।

यह भी पढ़ें : एसबीआई एक्सप्रेस क्रेडिट पर्सनल लोन कैसे ले

मत्स्य पालन लोन ऑनलाइन अप्लाई

  • मत्स्य पालन लोन ऑनलाइन अप्लाई आवेदन की प्रक्रिया बेहद आसान है।
  • आवेदक को आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर साइन अप करना होगा। उसके बाद, फॉर्म के साथ सभी आवश्यक दस्तावेज अपलोड करने होंगे।
  • आवेदक को अपना स्वयं का एससीपी-डीपीआर तैयार करके फॉर्म के साथ अपलोड करना भी आवश्यक है।

नोट : मैं आपको बताना चाहूंगा कि इस समय मत्स्य पालन लोन ऑनलाइन अप्लाई बंद है, लेकिन आप बैंक में जाकर लोन के लिए आवेदन कर सकते हैं।

क्या भारत में मछली पालन एक अच्छा व्यवसाय है?

हाँ, यह वास्तव में शुरू करने के लिए एक बहुत अच्छा व्यवसाय है। क्योंकि भारत में वाणिज्यिक मछली पालन की दर तेजी से बढ़ रही है। क्योंकि मछली और मछली किसानों के उत्पादों की भारतीय बाजार में भारी मांग है। मैंने मछली पालन से प्राप्त होने वाले कुछ प्रमुख लाभों का उल्लेख किया है :

  1. कम से कम 60% भारतीय अपने नियमित भोजन के हिस्से के रूप में मछली का सेवन करते हैं।
  2. बाजार में मछली की मांग अधिक होने के कारण अच्छी आय सुनिश्चित करने के लिए इसकी कीमत भी बहुत अधिक है।
  3. भारत की उपोष्णकटिबंधीय और उष्णकटिबंधीय जलवायु मछली के विकास और उत्पादन के लिए आदर्श है।
  4. भारत में झीलों, तालाबों, नदियों, नालों आदि जैसे प्रचुर जल स्रोत हैं, इसलिए मछलियों की खेती करना और उन्हें तालाबों में पालना बहुत मुश्किल नहीं है।
  5. अन्य प्रकार खेती जैसे मुर्गी पालन, सब्जियां, जानवर आदि की पालन की तरह मछली पालन भी कोई श्रमसाध्य प्रक्रिया नहीं है ।
  6. इसे घर के अन्य परिवार के सदस्यों जैसे बच्चों और महिलाओं द्वारा भी आसानी से प्रबंधित किया जा सकता है।

मछली पालन लोन सहायता हेल्पडेस्क

PMMSY से संबंधित किसी भी प्रश्न के लिए, आप अपने जिला मत्स्य अधिकारी से संपर्क कर सकते हैं। आप राष्ट्रीय मत्स्य विभाग बोर्ड- एनएफडीबी द्वारा प्रबंधित 1800-425-1660 पर भी कॉल कर सकते हैं।

FAQ – सवाल जवाब

Q. मछली पालन के लिए लोन कितना मिल सकता है?

मछली पालन के लिए 15 लाख तक का लोन मिल सकता है।

यह भी पढ़ें :

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here