भारत का नेपोलियन किसे कहा जाता है | Bharat Ka Napoleon Kise Kahate Hain

भारत का नेपोलियन किसे कहा जाता है : क्या आप जानते है की भारत का नेपोलियन किसे कहा जाता है। नहीं जानते, तो कोई बात नहीं आज हम बात करने बाले है की भारत का नेपोलियन किसे कहा जाता है। इस सवाल का सही जवाब जानने के लिए पूरा लेख पढ़ें।

भारत का नेपोलियन किसे कहा जाता है
भारत का नेपोलियन किसे कहा जाता है

भारत का नेपोलियन सम्राट समुद्रगुप्त के बारे में कुछ जानकारी

पहले आप जानले की नेपोलियन सिर्फ एक जनरल था। लेकिन भारत पर एक सम्राट का शासन था, जिसने अपने शासनकाल के दौरान, अपने राज्य को पूरे भारत के साथ-साथ विदेशों में भी फैलाया। गुप्त वंश के सबसे प्रतापी राजा में से एक था समुद्रो गुप्त। नेपोलियन ने अपनी रणनीति से सभी युद्ध लड़े और जीते भी थे।

भारत का नेपोलियन किसे कहा जाता है?

समुद्रगुप्त को भारत का नेपोलियन माना जाता है। जिसमें पूरी दुनिया को जीतने की जिज्ञासा थी। इसके अलाबा भी नेपोलियन को इतिहास में एक सफल योध्दा के रूप में जाना जाता हैं।

इतिहासकार वीए स्मिथ ने समुद्रगुप्त की व्याख्या भारत के नेपोलियन के रूप में की है। क्योंकि समुद्रगुप्त ने अपने शासन काल में गुप्त साम्राज्य की सीमाओं को समस्त भारत सहित चारों दिशाओं में विदेशों में फैला दिया था। उन्होंने अपने जीवनकाल में सभी युद्ध बहादुरी से लड़े और ज्ञान के साथ जीते।

समुद्रगुप्त भारत के प्राचीन गुप्त वंश का तीसरा शासक था। वह चंद्रगुप्त प्रथम का उत्तराधिकारी था।

समुद्रगुप्त को भारत का नेपोलियन क्यों कहा जाता हैं?

समुद्रगुप्त के शासनकाल को इतिहास में एक विशाल सैन्य अभियान के रूप में वर्णित किया गया है। क्योंकि समुद्रगुप्त ने राजा बनने के तुरंत बाद आसपास के राज्यों को अपने भीतर समेटने का अभियान शुरू कर दिया था। उसने सबसे पहले मध्य भारत के रोहिलखंड और पद्मावती राज्यों पर आक्रमण किया। उसके बाद उसने बंगाल और नेपाल राज्यों को जीतकर अपने राज्य का एकीकरण करवाया।  और असम राज्य को शुल्क देने के लिए विवश किया था।

उसके बाद ही समुद्रगुप्त ने एक विशाल सेना के साथ मालवासा, यौधेय, अर्जुनाय, मधुरस और अभिरस साम्राज्य के आदिवासी राज्यों को जीत लिया था और अपने राज्य को अपने अधीन कर लिया था। उसके बाद अफगानिस्तान, मध्य एशिया और पूर्वी ईरान के शासकों ने भी अपने साम्राज्य में सकास और खुशानाक जैसे विदेशी राज्यों को शामिल किया। इस प्रकार समुद्रगुप्त ने एक विशाल राज्य की स्थापना की। और इसी कारण समुद्रगुप्त को भारत का नेपोलियन कहा जाता है।

स्वर्ण काल किसे कहते है?

गुप्त साम्राज्य को चंद्रगुप्त मौर्य के समय में ही फलने-फूलने का मौका मिला। समुद्रगुप्त के समय को भारत का स्वर्ण युग भी कहा जाता है। समुद्रगुप्त का साम्राज्य पश्चिम में गांधार से लेकर पूर्व में असम तक और उत्तर में हिमालय से लेकर दक्षिण में सिंहल तक फैला हुआ था।

समुद्रगुप्त का प्रारंभिक जीवन

समुद्रगुप्त चन्द्रगुप्त का पुत्र था। चन्द्रगुप्त की राजधानी पाटलिपुत्र मैं थी और वर्तमान में पाटलिपुत्र बिहार राज्य की राजधानी पटना हैं। चंद्रगुप्त ने लिच्छवि वंश की राजकुमारी कुमारी देवी से विवाह किया। जिससे उनको दहेज़ में वैशाली मिला था और पकड़ गंगा के किनारे मिली। जो उस समय भारत की अर्थव्यवस्था का केंद्रीय बिंदु था। चंद्रगुप्त की मृत्यु के बाद, उसके पुत्र समुद्रगुप्त को शासन करने का मौका मिला।

अंतिम शब्द

दोस्तों, अब आप जान गए हैं कि भारत का नेपोलियन किसे कहा जाता है। तो हम अपना लेख यहीं पर समाप्त कर रहे हैं। अगर आपको हमारा इस लेख को पसंद आया हो, तो आप इस लेख को अपने दोस्तों या रिश्तेदारों के साथ शेयर कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें :

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here