बैंक ऑफ बड़ौदा में कितने साल में पैसा डबल होता है?

0

सबको अपना पैसा डबल करना है, लेकिन अधिकतर लोगों को यह नहीं पता की ऐसा कौन सा प्लेटफार्म है जिससे जल्द पैसो को डबल किया जा सकता है। अधिकतर लोग पैसों को डबल करने के लिए बैंक में FD करते है, जिससे उन्हें अच्छा ब्याज मिले और उनका पैसा डबल हो सके। 

आपको बताना चाहूंगा कि ऐसा ही एक स्कीम है बैंक ऑफ बड़ौदा का, इस स्कीम के जरिए आप अपने पैसो को बहुत ही कम समय के भीतर अधिक ब्याज प्राप्त करके पैसा डबल कर सकते है। बैंक ऑफ बड़ौदा अपने ग्राहकों को KVP डबल धमाका फिक्स्ड डिपॉज़िट योजना के साथ 10 साल 4 महीने के भीतर पैसा डबल करने का वादा करता है।

केवीपी डबल प्लान एक निश्चित ब्याज दर प्रदान करती है। अतिरिक्त लाभ के साथ कम जोखिम वाले निवेश की तलाश करने वाले व्यक्तियों के लिए एक लोकप्रिय फिक्स्ड डिपॉजिट योजना है।

यह उन लोगों के लिए भी एक अच्छा विकल्प है जो बच्चे की शिक्षा या भविष्य की वित्तीय आवश्यकता जैसे किसी विशिष्ट लक्ष्य के लिए पैसों को डबल करना चाहते हैं।

अगर आप इस योजना के जरिए अपना पैसा दोगुना करना चाहते हैं और जानना चाहते हैं कि बैंक ऑफ बड़ौदा में कैसे और सटीक कितने साल में पैसा डबल होता है, तो इस लेख को पूरा पढ़ें।

बैंक ऑफ बड़ौदा में कितने साल में पैसा डबल होता है?

जैसे की हमने पहले ही बताया है की बैंक ऑफ बड़ौदा की डबल धमाका फिक्स्ड डिपॉज़िट योजना से आप पैसा डबल कर सकते है। बैंक ऑफ बड़ौदा की डबल धमाका फिक्स्ड डिपॉजिट योजना का नाम है:

  • किसान विकास पत्र (Kisan Vikas Patra).

दोस्तों बैंक ऑफ बड़ौदा ने पैसा डबल करने की इस योजना के समय को 2 भागो में बाटा है। बैंक ऑफ बड़ौदा में पैसा डबल होने में एक वरिष्ठ नागरिकों और आम जनता के लिए 124 महीने का समय लगता है।

सम्बंधित लेख:

बैंक ऑफ बड़ौदा में किसान विकास पत्र योजना क्या है?

किसान विकास पत्र (KVP) योजना भारत सरकार द्वारा कुछ चुनिंदा बैंक और डाकघर प्रणाली के माध्यम से दी जाने वाली एक फिक्स्ड डिपॉजिट योजना है। इस योजना के तहत, व्यक्ति वन टाइम इन्वेस्टमेंट या एकमुश्त राशि का निवेश कर सकते हैं और पूर्ण अवधि तक निश्चित ब्याज दर लाभ करके, निवेश मूल्य का दोगुना राशि प्राप्त कर सकता है।

किसान विकास पत्र को एक डाकघर या बैंक से दूसरे डाकघर या बैंक में, या एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में आसानी से स्थानांतरित किया जा सकता है।

इस योजना में तीन तरह से होती है खरीदारी होती है:

  1. सिंगल होल्डर टाइप सर्टिफिकेट: इस तरह का सर्टिफिकेट खुद के लिए या किसी नाबालिग के लिए खरीदा जाता है,
  2. जॉइंट ए अकाउंट सर्टिफिकेट: यह दो वयस्कों को संयुक्त रूप से जारी किया जाता है। दोनों धारकों, या जो भी जीवित है, उनको भुगतान करता है।
  3. जॉइंट बी अकाउंट सर्टिफिकेट: यह दो वयस्कों को संयुक्त रूप से जारी किया जाता है। उनमें से किसी एक को यानि के जो भी जीवित है उन्हें भुगतान करता है।

किसान विकास पत्र योजना में कितने तक का राशि जमा किया जा सकता है?

उदाहरण के लिए, यदि कोई व्यक्ति KVP डबल स्कीम में 1000 रुपये का निवेश करता है, तो मैच्योरिटी पर निवेश बढ़कर 2000 रुपये हो जाएगा। इस योजना की पूर्ण अवधि आमतौर पर 124 महीने होती है। यह योजना 1000 रुपये, 5000 रुपये, 10000 रुपये और 50000 रुपये के मूल्यवर्ग में पेश की जाती है।

2.5 साल का लॉक-इन पीरियड:

किसान विकास पत्र समय से पहले, यानि के इस योजना में पैसा जमा करने के 2.5 साल बाद ही पैसा विथड्रॉल की जा सकती है।

केवीपी खाता धारक या जॉइंट खाता खाताधारकों की मृत्यु होने पर, राजपत्रित अधिकारी के मामले में रेहनदार द्वारा खाता बंद किया जा सकता है और अदालत के आदेश पर इस योजना को बंद किया जा सकता है।

किसान विकास पत्र के लिए आवश्यक दस्तावेज क्या है?

किसान विकास पत्र के लिए आवश्यक दस्तावेज हैं:

  • किसान विकास पत्र के लिए आवेदन पत्र,
  • पहचान का प्रमाण: जैसे आधार कार्ड, पैन कार्ड, मतदाता पहचान पत्र, पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस, आदि,
  • पते का प्रमाण: जैसे उपयोगिता बिल, आधार कार्ड, मतदाता पहचान पत्र, पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस, आदि,
  • पैन कार्ड,
  • पासपोर्ट साइज फोटो।

किसान विकास पत्र के फायदे क्या है?

केवीपी में निवेश के कुछ लाभों में शामिल हैं:

  1. इस योजना में निवेश बेहद सुरक्षित है, क्यों की इस स्कीम पर गारंटीड रिटर्न मिलता है। 
  2. इस योजना में आयकर अधिनियम 1961 के अनुसार, निवेशक के लिए कुछ टैक्स लाभ भी मिलता है। लेकिन मिलने वाला रिटर्न पूरी तरह से टैक्सेबल होता है।
  3. आप मैच्योरिटी हो जाने पर यानी 124 महीनों के बाद पैसे निकाल सकते हैं।
  4. किसान विकास पत्र को कोलैटरल या सिक्योरिटी के तौर पर रख कर लोन का लाभ भी उठाया जा सकता है।
  5. एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति के साथ-साथ एक डाकघर या बैंक से दूसरे डाकघर या बैंक में भी खाता  स्थानांतरण किया जा सकता है।

किसान विकास पत्र में खाता कैसे खोलें?

किसान विकास पत्र में खाता खोलने के लिए आप इन चरणों का पालन कर सकते हैं:

  1. केवीपी पर निवेश करने के लिए आप नजदीकी डाकघर या बैंक से संपर्क कर सकते है।
  2. KVP के लिए आवेदन पत्र डाकघर या बैंक से प्राप्त करें या आप इसे आधिकारिक वेबसाइट से डाउनलोड कर सकते हैं।
  3. आवश्यक जानकारी के साथ आवेदन पत्र भरें और आवश्यक दस्तावेज जैसे पहचान का प्रमाण, पते का प्रमाण और पासपोर्ट आकार के फोटो संलग्न करें।
  4. क्रय राशि फॉर्म में स्पष्ट रूप से लिखी जानी चाहिए। केवीपी फॉर्म की राशि का भुगतान चेक या नकद के माध्यम से किया जा सकता है।
  5. यदि आप चेक के माध्यम से भुगतान करना चाहते है, तो फॉर्म पर चेक नंबर भरे। साथ में KVP एकल या “ज्वॉइंट ए” या “ज्वॉइंट बी” सदस्यता को ठीक से भरे। साथ में जॉइंट होल्डर की जानकारी भी प्रदान करें।   
  6. आवेदन पत्र को दस्तावेजों और निवेश राशि के साथ डाकघर या बैंक में जमा करें।
  7. बैंक या पोस्ट ऑफिस आपके नाम पर केवीपी सर्टिफिकेट जारी करेगा और आपको निवेश की रसीद देगा।

अंतिम शब्द

अंत में, निवेश या अन्य माध्यमों से “पैसा दोगुना करने” का विचार आकर्षक है लेकिन हमेशा यह आपके लिए कार्यकारी नहीं होता। वित्तीय दुनिया में कोई गारंटी नहीं है और उच्च रिटर्न अक्सर उच्च जोखिम के साथ आते हैं।

फंड जमा करने से पहले और रिटर्न के लिए अच्छी उम्मीदें रखने से पहले किसी भी निवेश को अच्छी तरह से जांच करना और समझना महत्वपूर्ण है।

पैसा डबल होने में लंबी अवधि, विविधीकरण, धैर्य और अनुशासन प्रमुख कारक होते हैं। कोई भी महत्वपूर्ण वित्तीय निर्णय लेने से पहले वित्तीय सलाहकार से परामर्श करना हमेशा उचित होता है।

FAQ – सवाल जवाब

Q. बैंक ऑफ बड़ौदा 1 साल में कितना ब्याज देता है?

बैंक ऑफ बड़ौदा 7 दिन से 10 वर्ष तक की अवधि के लिए आम जनता को 3.00% से 7.05% प्रति वर्ष और वरिष्ठ नागरिकों को 3.50% से 7.55% प्रति वर्ष की FD पर ब्याज दर प्रदान करता है।  

Q. आपका पैसा दोगुना होने में कितना समय लगता है?

आप रिटर्न की वार्षिक दर से 72 को विभाजित करें ताकि यह पता चल सके कि आपके पैसे को दोगुना करने में कितने साल लगेंगे। उदाहरण के लिए, यदि आप 8% का वार्षिक रिटर्न अर्जित करते हैं, तो आपके निवेश को दोगुना होने में लगभग 9 साल लगेंगे।

Q. क्या 5 साल में फिक्स्ड डिपॉजिट डबल हो जाता है?

अपनी सावधि जमा को 5 वर्षों में दोगुना करने के लिए, आपको अपने निवेश पर एक निश्चित प्रतिशत ब्याज अर्जित करना होगा। 5 साल में आपकी फिक्स्ड डिपॉजिट को दोगुना करने वाली ब्याज दर की गणना 72 के नियम का उपयोग करके की जा सकती है। इस मामले में, हम 14.4% प्राप्त करने के लिए 72 को 5 से विभाजित करते हैं (दोगुने होने वाले वर्षों की संख्या), जो कि 5 वर्षों में आपकी सावधि जमा को दोगुना करने के लिए आवश्यक ब्याज दर है।

यह भी पढ़े:

Previous articleआधार कार्ड पर 50000 का लोन कैसे मिलता है? 50000 Ka Loan Kaise Le – Personal Loan
Next articleस्वयं सहायता समूह लोन की जानकारी, नियमावली और स्वयं सहायता समूह में रोजगार, नौकरी
दोस्तों, मेरा नाम जय है और मैं पश्चिम बंगाल के एक छोटे से जिले से हूँ। मुझे बैंकिंग और फाइनेंस के बारे में नई चीजें सीखने और दूसरों के साथ अपना ज्ञान साझा करने में आनंद मिलता है, इस कारण से मैंने इस ब्लॉग को शुरू किया है और आगे भी लोगों की मदद करने के लिए नए लेख और जानकारी साझा करता रहूंगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here