बैंक या फाइनेंस की खींची हुई गाड़ीयां BIKE, CAR या अन्य व्हीकल खरीदने से पहले क्या क्या सावधानियां बरतनी चाहिए?

1

Bank Ya Finance Ki Khichi Hui Gadi Kaise Le: दोस्तों, आज इस लेख के जरिए आपको जानकारी देने वाले है, बैंक से या फाइनेंस की खींची हुई गाड़ीयां ऑक्शन से लेते समय क्या क्या सावधानियां बरतनी चाहिए। यह जानना बहुत महत्यपूर्ण है, क्यों की सावधानियां न बरतने की बजह से आपको बहुत सारे पड़ेशानी का सामना करना पड़ सकता है।    

छोटी छोटी बहुत सी पॉइंट होती है, जिनको ध्यान में रखकर ही गाड़ियों पर बिड लगाना चाहिए। यदि आपको पूरा जानकारी चाहिए तो, इस लेख को अंत तक पढ़े और खींची हुई गाड़ीयां BIKE, CAR या अन्य व्हीकल खरीदने के बाद होने वाली समस्या से बचे।   

बैंक या फाइनेंस की खींची हुई गाड़ीयां BIKE, CAR या अन्य व्हीकल खरीदने से पहले क्या क्या सावधानियां बरतनी चाहिए?

बैंक द्वारा ज़ब्त वाहन खरीदते समय, यह सुनिश्चित करने के लिए कुछ सावधानियां बरतना महत्वपूर्ण है। निम्नलिखित कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए:

सेकंड हैंड बोलेरो फाइनेंस कैसे करें?

  1. वाहन के बारे में जानकारी प्राप्त करे : बैंक द्वारा ज़ब्त वाहन खरीदने से पहले,  वाहन के मॉडल और वर्ष की जांच करें ताकि उसके मूल्य का अंदाजा लगाया जा सके। साथ ही वाहन के दुर्घटना रिपोर्ट और मेंटेनन्स रिकॉर्ड की जांच करें। 
  2. वाहन का अच्छी तरह से निरीक्षण करें: खरीदारी करने से पहले, आपको किसी भी नुकसान या समस्या के लिए वाहन का अच्छी तरह से निरीक्षण करना चाहिए। जंग, डेंट या अन्य शारीरिक क्षति के किसी भी लक्षण के लिए जाँच करें। किसी भी यांत्रिक समस्या की जांच के लिए वाहन को टेस्ट ड्राइव के लिए ले जाएं।
  3. कागजी कार्रवाई की जांच करें: सुनिश्चित करें कि वाहन की सभी कागज सही है, जिसमें पंजीकरण प्रमाणपत्र, बीमा और प्रदूषण प्रमाणपत्र शामिल है। वेरीफाई करें कि वाहन का पंजीकरण वैध है और सभी करों का भुगतान किया गया है। आप वाहन के कागजी जानकारी प्राप्त करने के लिए, आप सरकार द्वारा लांच किया गया mParivahan ऐप का इसेमाल कर सकते है।
  4. विशेषज्ञ की राय लें: बैंक या फाइनेंस की खींची हुई गाड़ी को खरीदने से पहले , किसी मैकेनिक या विशेषज्ञ द्वारा वाहन का निरीक्षण करने पर विचार करें।
  5. पार्किंग शुल्क: बैंक से खींचे जाने वाले वाहन को खरीदते समय, पार्किंग शुल्क देना पड़ता है। ये शुल्क बैंक के आधार पर अलग-अलग हो सकते हैं, वाहन के प्रकार और वाहन कितने समय तक उनके कब्जे में रहा है, इसके ऊपर पार्किंग शुल्क निर्भर करता है। पार्किंग शुल्क  दिन के हिसाब से लिया जाता है, कम से कम 30, 40 रुपए से 250 रुपए तक दिन के हिसाब से बैंक आपसे पार्किंग शुल्क बसूलेगा। कुछ बैंक या फाइनेंस कंपनियों का पार्किंग शुल्क में छूट मिलती है। 
  6. वाहन की मालिकों की जाँच करें: जो व्यक्ति नया वाहन खरीदता है, वह उस वाहन का पहला मालिक होता है। फिर उस वाहन को बेचने के बाद जो उस वाहन को खरीदता है वही दूसरा मालिक होता है। इसलिए बोली लगाने से पहले वाहन की शान जांच लें। नहीं तो बाद में पता चलता है कि जिस गाड़ी की आप बोली लगा रहे हैं, उसके पहले उस वाहन 2 या 3 मालिक थे। इस तरह का वाहन का मेंटेनन्स खर्च अधिक होता है। मालिकों की जाँच करने के लिए आप CarInfo जैसी वेबसाइट का उपयोग कर सकते है।    
  7. पेट्रोल या डीजल: वाहन पेट्रोल या डीजल में चलता है, इसका जानकारी जरूर प्राप्त करें।
  8. पार्किंग सिटी की जांच: ऑनलाइन बिडिंग करने से पहले वाहन की पार्किंग सिटी की जांच जरूर करें। क्यों की ऐसा देखा गया है की लोग वाहन का पार्किंग सिटी की जांच न करके ही बिडिंग कर देते है। बाद में पता चलता है की वह वाहन किसी दूसरे शहर या राज्य में पार्क है। इससे उस वाहन को लाने में अधिक पैसा खर्च हो सकता है।   
  9. सही कीमत पाएं: वाहन के बाजार मूल्य जांचे और सुनिश्चित करें कि आपको सही कीमत पर वाहन मिल रहा है।
  10. पुष्टि करें कि बैंक के पास वाहन को बेचने का कानूनी अधिकार है: पुष्टि करें कि बैंक के पास वाहन बेचने का कानूनी अधिकार है, और वह किसी भी विवाद या कानूनी कार्यवाही में शामिल नहीं है।

सबसे सस्ता कार लोन किस बैंक का है?

बैंक से खींची हुई गाड़ियां कहां मिलती है?

बैंक से खींचे जाने वाले वाहन आमतौर पर बैंक के कब्जे या नीलामी विभाग में पाए जा सकते हैं। बैंक इन वाहनों को तृतीय-पक्ष नीलामी कंपनियों या ऑनलाइन नीलामी प्लेटफॉर्म के माध्यम से भी बेचता हैं। बैंक से खींचे जाने वाले वाहनों को खोजने के कुछ तरीके यहां दिए गए हैं:

सीधे बैंक से संपर्क करें:

कई बैंकों के पास एक रिपॉजेशन या नीलामी विभाग है जो बैंक द्वारा खींचे गए वाहनों की बिक्री को संभालता है। जब्त किए गए वाहनों की आगामी नीलामियों या बिक्री के बारे में पूछताछ करने के लिए सीधे बैंक से संपर्क करें।

ऑनलाइन ऑक्शन प्लेटफॉर्म चेक करें:

कई ऑनलाइन प्लेटफॉर्म जैसे “e-Auction” और IBA ऑक्शन प्लेटफॉर्म, जहां बैंक से खींचे जाने वाले वाहन बेचे जाते हैं। बैंक इन प्लेटफॉर्म्स पर नीलामी के लिए अपने वाहनों को सूचीबद्ध करते है और इच्छुक खरीदार वाहनों पर बोली लगा सकते हैं।

ऑटो-ऑक्शन इवेंट्स पर जाएं:

बैंक विभिन्न शहरों में ऑटो-ऑक्शन इवेंट्स में भी भाग लेते हैं, जहां वे अपने जब्त किए गए वाहनों को नीलामी करते है।

स्थानीय समाचार पत्रों पर जाँच करें:

बैंक स्थानीय समाचार पत्रों या ऑनलाइन क्लासिफाईड में जब्त वाहनों की बिक्री का विज्ञापन भी करते हैं।

थर्ड पार्टी या तीसरे पक्ष की नीलामी कंपनियों से संपर्क करें:

कई बैंक अपने कब्जे वाले वाहनों को बेचने के लिए थर्ड पार्टी या तीसरे पक्ष की नीलामी कंपनियों के साथ काम करते हैं। आगामी नीलामियों और बैंक द्वारा खींचे जाने वाले वाहनों की बिक्री के बारे में जानने के लिए आप इन कंपनियों से संपर्क कर सकते हैं।

स्टार कृषि वाहन योजना से लोन कैसे लें?

अंतिम शब्द:

अंत में, आपको यह बताना चाहूंगा की बैंक या फाइनेंस की खींची हुई गाड़ीयां BIKE, CAR, ट्रैक्टर, पिकअप, बोलेरो, ट्रक, जेसीबी, या मोटरसाइकिल खरीदने से पहले यह जांच ले की वाहन का इतिहास क्या है, पंजीकरण पत्र ओरिजिनल है या नहीं, कोई बकाया ग्रहणाधिकार या अन्य मुद्दे नहीं हैं जिससे आपको बाद में पड़ेशानी में डाल सकता है।

इन सावधानियों को अपनाकर, आप सुनिश्चित हो सकते हैं कि आप एक अच्छा निवेश कर रहे हैं और आने वाले कई वर्षों तक आप अपने वाहन का आनंद ले सकेंगे।

यह भी पढ़े:

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here