पोल्ट्री फार्म लोन सब्सिडी 2022 | पोल्ट्री फार्म लोन लेने का आसान तरीका

2

पोल्ट्री फार्म लोन सब्सिडी 2022 : पोल्ट्री फार्म लोन एक प्रकार का बिजनेस लोन है। यह लोन विभिन्न प्राइवेट और सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों द्वारा व्यक्तियों, एमएसएमई और देश भर के ग्रामीण या शहरी क्षेत्रों में संचालित पोल्ट्री फार्म व्यवसायों के मालिकों को दिया जाता है।

पोल्ट्री फार्म लोन के लिए पात्रता और आवेदन के लिए प्रत्येक राज्य के अपने दिशानिर्देश हैं। आप अपने राज्य के दिशा-निर्देशों का पालन करके यह लोन प्राप्त कर सकते हैं।

अगर आपको पोल्ट्री फार्म व्यवसाय में दिलचब्द है तो आप इस लोन के लिए अप्लाई कर सकते है, लेकिन इससे पहले आपको जानना होगा की इस लोन को कैसे प्राप्त कर सकते है और पोल्ट्री फार्म लोन सब्सिडी 2022 क्या है। 

विषयसूची

पोल्ट्री फार्म लोन सब्सिडी 2022 (Poultry Firm Loan)

पोल्ट्री फार्म लोन लेने का आसान तरीका
पोल्ट्री फार्म लोन सब्सिडी

मुर्गी पालन एक अच्छा व्यवसाय है। इससे आप ज्यादा मुनाफा कमा सकते हैं। आज कल लोग न केवल कृषि पर आधारित हैं, बल्कि कई ऐसे व्यवसाय हैं जो आप अपनी खेती की जमीन पर कर सकते हैं। सरकार कई योजनाएं चला रही है, जिसमें आपको लोन के साथ-साथ सब्सिडी भी मिलती है। आज इस लेख में हम बताएंगे कि पोल्ट्री फार्म लोन में कितनी सब्सिडी मिलती है।

मैं आपको बताना चाहूंगा कि मुर्गी पालन के लिए सरकार कम से कम 25% और अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के लोगों को 35% प्रतिशत तक सब्सिडी देती है। आपकी पोल्ट्री फर्म बनाने की खेत जितनी बड़ी होगी, आपको उतना ही अधिक लोन मिल सकता है। इससे आपको अधिक सब्सिडी भी मिलेगी।

पोल्ट्री फार्म व्यवसाय में रुचि रखने वाले किसान अपने संबंधित जिला कृषि विभाग के कार्यालय में जाकर लोन के लिए आवेदन कर सकते हैं और इस लोन से सब्सिडी प्राप्त कर सकते हैं।

पोल्ट्री फार्म व्यवसाय के लिए लोगों को कुछ पैसा खुद लगाना होगा और बाकी पैसा सरकार द्वारा लोगों को बैंक से सब्सिडी लोन पर दिया जाएगा। योगी सरकार कुक्कुट अनुदान विकास नीति के तहत करीब 30000 पक्षियों की व्यावसायिक इकाई के अलावा 10000 पक्षियों की एक इकाई स्थापित की जा सकती है।

उदाहरण

  • अर्थात 30000 पक्षियों के इस फर्म के लिए यदि पोल्ट्री किसान को 1.60 करोड़ रुपये की जरूरत है, तो 54 लाख रुपये लाभार्थी को स्वयं देने होंगे और शेष 1.06 करोड़ रुपये का लोन दिए जाएंगे।
  • दूसरा, 10000 पक्षियों की एक इकाई की कुल लागत अगर 70 लाख तक है, तो लाभार्थी को 21 लाख रुपए स्वयं निवेश करने होंगे और शेष 49 लाख रुपए लोन  दिया जाएगा।

मछली पालन के लिए लोन कहां से मिलेगा

पोल्ट्री फार्म लोन (Loan) की विशेषताएं

विभिन्न राज्यों में मुर्गी पालन के लिए राज्य सरकार द्वारा अलग-अलग लोन योजनाएं चलाई जाती हैं। हम आपको पोल्ट्री फार्म लोन के सभी फीचर्स बताने जा रहे हैं। विशेषताएं जानने के लिए नीचे पढ़ें :

  • भारत में सभी राज्य के किसान इस लोन का लाभ उठा सकता हैं, सभी राज्य आपके किसानो को सब्सिडी देने के लिए इस लोन को डिजाइन किया है।
  • इस योजना के तहत किसानों को चूजे, चारा, अन्य आदानों की खरीद और एक फर्म बनाने में मदद करने के लिए सब्सिडी प्रदान की जाती है।
  • यदि आपके पास ज्यादा जमीन नहीं है फिर भी आप यह बिजनेस को कर सकते हैं।
  • इस बिज़नेस को छोटे स्तर पर भी शुरू किया जा सकता है।

मुर्गी पालन लोन (Loan) के लिए आवश्यक दस्तावेज क्या हैं?

  • पहचान प्रमाण (ड्राइविंग लाइसेंस, वोटर आई कार्ड, पैन कार्ड, पासपोर्ट)
  • पता प्रमाण (बिजली बिल, पानी का बिल, राशन कार्ड)
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • बैंक स्टेटमेंट
  • प्रोजेक्ट रिपोर्ट

उत्तर प्रदेश में मुर्गी फार्म के लिए लोन कैसे लिया जाता है?

में आपको बताना चाहूंगा की उत्तर प्रदेश सरकार ने लोगो को स्व-रोजगार बनाने के लिए मुर्गी पालन लोन योजना शुरू किया है। अगर आप उत्तर प्रदेश के रहने वाले है तो आप किसान मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी के ऑफिस में जाकर इस लोन के लिए अप्लाई कर सकते है और इस लोन से मिलने वाली सब्सिडी का लाभ भी उठा सकते है। 

उत्तर प्रदेश की राज्य सरकार ने कहा है कि इस योजना से लोगों को नया पोल्ट्री व्यवसाय शुरू करने और व्यवसाय को बढ़ाने में मदद मिलेगी। इस फर्म से कई लोगों को रोजगार भी मिलेगा और इस लोन के तहत छोटे पैमाने के पोल्ट्री किसानों को भी मदद मिलेगी।

उत्तर प्रदेश पोल्ट्री फार्मिंग योजना के लिए पात्रता

  1. आपको उत्तर प्रदेश का निवासी होना चाहिए।
  2. आवेदक के पास अपनी एक से तीन एकड़ जमीन होनी चाहिए।
  3. बैंक बचत खाता होना जरूरी है।
  4. आवेदक के पास आधार कार्ड होना जरूरी है।

उत्तर प्रदेश पोल्ट्री फार्मिंग के लिए लोन (Loan) कैसे प्राप्त करें?

  • सबसे पहले आपको उस बैंक में जाना चाहिए जिसमें आपका बैंक खाता है।
  • मुर्गी पालन लोन के बारे में बैंक जाकर बैंक मैनेजर या लोन अधिकारी से बात करें।
  • इस लोन से संबंधित सभी चीजें जानने के बाद, आपको इस लोन के लिए आवेदन करने के लिए फॉर्म लेना होगा।
  • फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारी को सही से भरें और सभी दस्तावेज संलग्न करें।
  • अब आपको फॉर्म और सभी दस्तावेज बैंक में जमा करने होंगे।
  • फिर आपको बैंक से कॉल आएगा, बैंक अधिकारी आपकी जमीन देखने आ सकते हैं।
  • बैंक आपके द्वारा दिए गए सभी दस्तावेजों का वेरिफिकेशन करेगा। यदि सब कुछ ठीक रहा तो आपका लोन स्वीकृत हो जाएगा और लोन की राशि आपके खाते में जमा कर दी जाएगी।

उत्तर प्रदेश पोल्ट्री फार्म का रजिस्ट्रेशन कैसे करे?

अगर आप पोल्ट्री फार्म के लिए रजिस्ट्रेशन करना चाहते हैं और जानना चाहते है की रजिस्ट्रेशन करके पोल्ट्री फार्म लाइसेंस कैसे प्राप्त करे, इसकी सारी जानकारी हमने नीचे बिबरण के साथ दी है।

  • सबसे पहले आपको अपने ब्राउज़र में उत्तर प्रदेश की पशुपालन की आधिकारिक वेबसाइट http://www.animalhusb.upsdc.gov.in/en ओपन करना है।
उत्तर प्रदेश पोल्ट्री फार्म का रजिस्ट्रेशन कैसे करे
पोल्ट्री फार्म का रजिस्ट्रेशन कैसे करे
  • तो अब आप उत्तर प्रदेश के पशुपालन के होमपेज पर आ गए हैं।
  • होम पेज में आपको पोल्ट्री फार्म का विकल्प दिखाई देगा, आपको उस विकल्प पर क्लिक करना है।
  • यहां आपको मुर्गी पालन से लाइसेंस से जुड़ी सारी जानकारी मिल जाएगी।
  • अब आपको अप्लाई करने के लिए Apply Online के लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपके सामने एक नया पेज खुलेगा, जिस पर आपको एक फॉर्म दिखाई देगा।
  • फॉर्म में पूछी गई सभी जरूरी जानकारियां जैसे:- आवेदक का नाम, पिता का नाम, माता का नाम, मोबाइल नंबर, स्थायी पता, आधार नंबर, पैन नंबर, बैंक अकाउंट नंबर भरनी होगी।
  • इन सभी जानकारियों को भरने के बाद पासपोर्ट साइज फोटो और संबंधित दस्तावेजों को स्कैन करके अपलोड करें।
  • यदि आपका आवेदन सफल होता है, तो आपको सभी मूल दस्तावेजों के साथ आपको पशुपालन विभाग में बुलाया जाता है।
  • जिसके बाद आपको पोल्ट्री फार्म का बिजनेस करने का लाइसेंस मिलता है।

महिला रोजगार लोन योजना से लोन कैसे ले

बिहार मुर्गी पालन लोन (Loan) क्या है?

अगर आप बिहार के निवासी हैं और आप पोल्ट्री व्यवसाय करना चाहते हैं तो मैं आपको बताना चाहूंगा कि बिहार में पोल्ट्री विकास योजना के तहत सरकार ब्रॉयलर पोल्ट्री फार्म (3,000 क्षमता) बनाने के लिए लोन सब्सिडी देती है।

बिहार सरकार का उद्देश्य बिहार के लोगों को स्वरोजगार करना और मुर्गी के मांस का उत्पादन यथासंभव बढ़ाना है। यदि इस तरह के कई नए व्यवसाय शुरू किए जाते हैं, तो फर्म में कई लोगों को काम और रोजगार मिलेगा। जिससे बेरोजगारी कम होगी।

बिहार पोल्ट्री फार्मिंग योजना की विशेषताएं

ब्रॉयलर की खेती को बढ़ाने के लिए सामान्य वर्ग के लोगों को 30% और अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति के लोगों को पोल्ट्री फार्मिंग के लिए 50% सब्सिडी दी जाएगी।

उदाहरण के तौर पर मैं आपको बताना चाहूंगा कि अगर आप 10 लाख का लोन लेते हैं तो 10 लाख का 30 फीसदी यानी सामान्य वर्ग के लोगों को 3 लाख की सब्सिडी और एससी/एसटी के लोगों को 10 लाख का 50 फीसदी का मतलब 5 लाख रुपये तक का अनुदान दिया जायेगा।

बिहार मुर्गी पालन लोन (Loan) के लिए पात्रता

  • पोल्ट्री फार्म बनाने के लिए जरूरत के हिसाब से जमीन की व्यवस्था खुद को करनी होगी।
  • 3000 क्षमता वाले पोल्ट्री फार्म के लिए आपको कम से कम 7000 वर्ग फुट जमीन चाहिए।
  • जहां फॉर्म बनाना होगा वहां का नक्शा बनाकर बैंक में जमा करना होगा।
  • जमीन पर आवेदक के पिता या लोन आवेदक का नाम होना जरूरी है।
  • पोल्ट्री फार्म के लिए एक प्रोजेक्ट रिपोर्ट की आवश्यकता है।
  • इस योजना में प्रशिक्षित लाभार्थी को अधिक प्राथमिकता दी जाएगी।

राजस्थान में मुर्गी फार्म के लिए लोन कैसे लिया जाता है?

यदि आप राजस्थान के निवासी हैं और आप पोल्ट्री फार्म करना चाहते हैं तो राजस्थान सरकार राज्य के नागरिकों को स्वरोजगार करने के लिए मुर्गी पालन लोन योजना चला रही है। जिससे आप लोन लेकर सब्सिडी का लाभ उठा सकते हैं।

इस योजना के तहत मुर्गी गृह निर्माण, मुर्गी पालन, आवश्यक बर्तन, पक्षी भोजन और पक्षी बीमा के लिए लोन प्रदान किया जाता है। अगर आप यह लोन लेना चाहते हैं तो 5 साल में एक पक्षी के लिए 139-309 रुपये तक का लोन ले सकते हैं।

राजस्थान मुर्गी पालन लोन पात्रता

  • यह लोन लेने के लिए आपके पास एक बैंक खाता होना चाहिए।
  • बैंक में आस-पास के खेतों की सीमाओं के साथ मुर्गी पालन भूमि का नक्शा देना होगा।
  • वर्तमान खसरा गिरदावरी चाहिए होगा।
  • आवेदक का शपथ पत्र कि 50000 रुपये तक के लोन के मामले में कोई बकाया नहीं है।
  • आपको लोन के उद्देश्य और अनुमानित व्यय का विवरण देना होगा।
  • आवेदक की 2 कॉपी फोटो।
  • इस योजना के तहत राज्य सरकार के माध्यम से आपको 5 लाख रुपये तक का लोन मिलेगा।

श्रमिक कार्ड लोन योजना राजस्थान

पोल्ट्री फार्म लोन कहाँ से प्राप्त करें?

चालू वर्ष 2022 में एसबीआई बैंक, पीएनबी बैंक, फेडरल बैंक, बैंक ऑफ इंडिया, कनाड़ा बैंक, बैंक ऑफ बड़ौदा आदि बैंक आसान शर्तों पर पोल्ट्री फार्म के लिए लोन प्रदान करते हैं। हमारे बनाए गए बैंक के ब्याज दर क्या है जानने के लिए आर्टिकल को पूरा पढ़े।

1.एसबीआई बैंक (SBI Bank Loan) पोल्ट्री फार्म लोन

  • एसबीआई बैंक से आपको अधिकतर 10 लाख तक का लोन मिल सकता है।
  • इस लोन के ऊपर सालाना ब्याज दर 9.85% से शुरू होती है।
  • इस लोन को चुकाने के लिए आपको 3 से 5 वर्ष का समय मिलता है। 
  • इस लोन को लेने के लिए आपको किसी सिक्योरिटी देने की जरुरत नहीं होती है।
  • लोन की प्रोसेसिंग फी की बात करे तो इस लोन में 50,000 रुपये तक लोन लेने पर प्रोसेसिंग फी शून्य है ।
  • 50,000 रुपये से 5 लाख रुपये तक की राशि के लिए 0.50% प्रोसेसिंग फी देनी पड़ती है।

2. पीएनबी बैंक (PNB Bank Loan)पोल्ट्री फार्म लोन

  • PNB से पोल्ट्री फार्म लोन के ब्याज दर आवेदक की प्रोफ़ाइल और व्यावसायिक आवश्यकताओं पर निर्भर करता है।
  • यह लोन की राशि आपको जरूरत के हिसाब से मिलेगा।
  • लोन की चुकौती अवधि अधिकतम 7 वर्ष तक है।
  • न्यूनतम पोल्ट्री फार्म का आकार कम से कम 500 पक्षियों का होना चाहिए।

3. फेडरल बैंक (Federal Bank) पोल्ट्री फार्म लोन

  • फेडरल बैंक से लोन लेने के लिए ब्याज दर आपकी प्रोफ़ाइल और व्यावसायिक आवश्यकताओं पर निर्भर करता है।
  • चूजों की खरीद के लिए, चारा की खरीद, दवा, श्रम लागत, बिजली की लागत, पशु चिकित्सा खर्च आदि के लिए आप इस लोन को ले सकते है।
  • व्यक्ति, एकल स्वामित्व, साझेदारी फर्म, कंपनियां और सहकारी समितियां इस लोन के लोए अप्लाई कर सकते है।
  • लोन राशि न्यूनतम 1,50,000 रुपये ली जा सकती है, जहाँ न्यूनतम प्रति बैच 500 पक्षी झुंड होने चाहिए।
  • चुकौती अवधि और कार्यकाल मासिक अधिकतम 7 वर्ष तक मिलती है।
  • 10-20% मार्जिन के साथ बैंक में जमीन का गिरवी रखना होगा।

4. बैंक ऑफ इंडिया (Bank of India) पोल्ट्री फार्मलोन

  • बैंक ऑफ इंडिया से लोन लेने के लिए ब्याज दर आपकी प्रोफ़ाइल और व्यावसायिक आवश्यकताओं पर निर्भर करता है।
  • लोन का उद्देश्य प्रति बैच 200 से 500 पक्षियों की छोटी ब्रॉयलर इकाइयां स्थापित करना है।
  • लोन राशि पोल्ट्री यूनिट के प्रकार और आकार पर निर्भर करेगी।
  • 1 लाख रुपये से कम और उससे अधिक के लोन के लिए भी सेक्युरिटी देनी होती है।

5. कनाड़ा बैंक (Canara Bank) पोल्ट्री फार्म लोन

  • ब्याज दर आवेदक की प्रोफ़ाइल और व्यावसायिक आवश्यकताओं पर निर्भर करती है।
  • ऋण का उद्देश्य लेयर/ब्रायलर फार्म एवं हैचरी की स्थापना हेतु, चूजों, चारा एवं औषधियों की खरीद हेतु, उपकरण क्रय करने हेतु, फीड मिक्सिंग प्लांट्स हेतु, पोल्ट्री शेड के निर्माण हेतु अप्लाई कर सकते है।
  • चुकौती अवधि अधिकतम 9 वर्षों तक उपलब्ध है।
  • मार्जिन : 1 लाख रुपये तक का मार्जिन ऋण : शून्य, 1 लाख रुपये से अधिक का ऋण : 15-25%
  • 1 लाख रुपये से कम और उससे अधिक के लोन के लिए सेक्युरिटी आवश्यक है।

 एक भैंस पर कितना लोन मिलता है?

6. बैंक ऑफ बड़ौदा (Bank of Baroda) पोल्ट्री फार्मलोन

  • बैंक ऑफ बड़ौदा से इस लोन का ब्याज दर आवेदक की प्रोफ़ाइल और व्यावसायिक आवश्यकताओं पर निर्भर करती है
  • कुक्कुट पालन, डेयरी, सुअर पालन, रेशम उत्पादन और कई अन्य क्षेत्रों में लगी इकाइयों की स्थापना के लिए लोन का आवेदन कर सकते है।
  • टर्म लोन के लिए पुनर्भुगतान अवधि 3 वर्ष से 7 वर्ष तक है, कॅश क्रेडिट के लिए वार्षिक समीक्षा के साथ 12 महीने है।

FAQ – सवाल जवाब

Q. मुर्गी पालन के लिए कौन सा बैंक लोन देता है?

अगर आप पोल्ट्री फार्मिंग करना चाहते है और आपको लोन चाहिए तो जैसे एचडीएफसी बैंक, एसबीआई, पीएनबी, फेडरल बैंक, आईडीबीआई बैंक, एक्सिस बैंक, केनरा बैंक, बैंक ऑफ बड़ौदा, सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया, बैंक ऑफ इंडिया आदि बैंक लोन की दे रही हैं। 

Q. क्या मुझे बिना जमानत या किसी प्रतिभूति के मुर्गी फार्म लोन मिल सकता है?

कुछ लोनदाता बिना सुरक्षा के पोल्ट्री फार्म के लिए लोन देती है, लेकिन अधिकांश बैंक से इस लोन को लेने के लिए संपार्श्विक या सुरक्षा देने की आवश्यकता होती है।

Q. पोल्ट्री फार्म बनाने में कितना खर्चा आएगा 5000 बच्चों के लिए?

अगर आप 5000 बच्चों के लिए पोल्ट्री फार्म बनाना चाहते हे तो कम से कम 4 से 5 लाख रूपए तक का खर्चा आएगा।

Q. मुर्गी फार्म बनाने में कितना खर्च आता है?

मुर्गे को पालने में कितना खर्च आएगा यह इस बात पर निर्भर करता है कि आप कितने मुर्गियां पालना चाहते हैं। पोल्ट्री फार्मिंग का बिजनेस आप छोटे या बड़े दोनों स्तरों पर कर सकते हैं। उदाहरण के तौर पर मैं आपको बता दूं कि अगर आप 500 मुर्गियां पालते हैं तो आपको 40 से 50 हजार तक का खर्च आता है।

Q. 500 मुर्गी पालने में कितना खर्चा आएगा?

500 मुर्गी पालने में आपको 40 से 50 हजार रुपए तक खर्चा आएगा।

Q. 1000 मुर्गी के लिए कितनी जगह चाहिए?

1000 मुर्गी पालने में आपको 80 से 90 हजार रुपए तक खर्चा आएगा।

Q. पोल्ट्री फार्म खोलने के लिए क्या करना पड़ता है?

इस लेख को पूरा पढ़ें, आपको पता चल जाएगा कि पोल्ट्री फार्म खोलने के लिए क्या करना पड़ता है।

Q. पोल्ट्री फार्म आबादी से कितना दूर होना चाहिए?

नई गाइडलाइंस के मुताबिक पोल्ट्री फार्म आबादी इलाके से 500 मीटर की दूरी पर होना चाहिए।

यह भी पढ़ें

2 COMMENTS

  1. ग्राम गवासरा पोस्ट चढुआ थाना कुढ़नी जिला मुजफ्फरपुर पिन कोड 844127

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here